त्रिपुरा में खत्म हुआ बीजेपी का वनवास, 25 साल बाद पार्टी को बहुमत

0

नई दिल्ली: पूर्वोत्तर राज्यों में मिली जीत के बाद बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने बयान दिया है। उन्होंने कहा कि भले ही बीजेपी ने अच्छी जीत हासिल की है, लेकिन अभी ये बीजेपी का गोल्डन पीरियड नहीं है। अभी कर्नाटक, ओडिशा, केरल और पश्चिम बंगाल में चुनाव होने वाले हैं। जब तक इन राज्यों में बीजेपी नहीं आ जाती तब तक पार्टी का गोल्डन पीरियड शुरू नहीं होगा। त्रिपुरा की जनता ने दशकों पुरानी लेफ्ट सरकार को सत्ता से बाहर कर बीजेपी को राज्य के विकास की जिम्मेदारी सौंपी है।

उन्होंने कहा कि तीन राज्यों में से दो राज्यों में बीजेपी सरकार बनाने जा रही है। मेघालय में कांग्रेस को बहुमत नहीं मिला है, विधायक जिसका समर्थन करेंगे, उसी की सरकार बनेगी। विधायक के तोड़फोड़ से सरकार नहीं बनेगी।

बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि ये पूर्वोत्तर के विकास को लेकर पीएम मोदी की प्रतिबद्धता और विकास की राजनीति की जीत है। उन्होंने कहा कि त्रिपुरा में 2013 के चुनावों में बीजेपी को एक भी सीट नहीं मिली थी, बस एक उम्मीदवार ही अपनी जमानत बचा पाया था, लेकिन आज उनकी पार्टी पूर्ण बहुमत में आई है। त्रिपुरा में बीजेपी गठबंधन को 43 सीटें हासिल की हैं। नागालैंड की 60 सीटों में से 29 सीटों पर बीजेपी गठबंधन ने जीत हासिल की है। पार्टी अध्यक्ष ने कहा कि इस जीत के संदेश के साथ वह कर्नाटक की तरफ कूच करेंगे।

त्रिपुरा में मिली बीजेपी को बड़ी जीत के बाद मुख्यालय पहुंचे अमित शाह ने कार्यकर्ताओं का स्वागत किया। अमित शाह ने देवधर, हिमंत विस्वा, बिप्लब कुमार देव समेत अन्य कार्यकर्ताओं को बधाई दी। शाह ने कहा कि त्रिपुरा में 25 सालों बाद जो बदलाव आया है उसकी मुख्य वजह कार्यकर्ताओं की मेहनत और लगन ही है। पिछले साल मणिपुर और गोवा में बीजेपी ने कम सीट पाने के बाद भी सरकार बनाने में कामयाब रही है। जबकि कांग्रेस दोनों जगह सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी थी। इसके बावजूद वो सरकार बनाने से महरूम रह गई थी।

Share.

About Author

Leave A Reply