प्लास्टिक-खाने वाले एंजाइम का निर्माण, जाने पूरी जानकारी

0
वैज्ञानिकों ने एक एंजाइम बनाया है जो सबसे अधिक प्रदूषणकारी प्लास्टिक को पचा सकता है, जिससे दुनिया की सबसे बड़ी पर्यावरण समस्याओं में से एक समस्या को संभावित समाधान मिल सकता है।इस शोध के परिणामस्वरूप लाख टन प्लास्टिक की बोतल की रीसाइक्लिंग हो सकती है और जो पॉलीथीन टेरेफेथलेट (पीईटी) से बना है, वो अब वर्तमान में पर्यावरण में सैकड़ों वर्षों तक परसिस्ट कर सकता है।
यूनिवर्सिटी ऑफ पोर्ट्समाउथ और राष्ट्रीय ऊर्जा विभाग प्रयोगशाला (एनआरईएल) के शोधकर्ताओं ने पीईटीईएस के क्रिस्टल संरचना को डीकोड किया जिससे हाल ही में खोजी गई एंजाइम पीईटी को पनपने लगी है। यह कैसे काम करता है यह समझने के लिए 3 डी जानकारी का इस्तेमाल किया गया।शोधकर्ताओं ने प्लास्टिक को तोड़ने के लिए इस एंजाइम को औद्योगिक रूप से इस्तेमाल करने के लिए बेहतर बनाने के लिए काम किया है।
खबरों के अनुसार प्लास्टिक की समस्या से निपटने में ये एक महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है। वैज्ञानिक समुदाय ने अंततः इस ‘आश्चर्य सामग्री’ का निर्माण किया है, जो पर्यावरण में लिए बहुत उपायोगी साबित होगी।ये एंजाइम पीईटी प्लास्टिक्स के लिए पॉलीथिलीन फ्यूरिडीरैमार्कोलाइनेट (पीईएफ) जैव-आधारित विकल्प को भी कम कर सकता है, जिसे ग्लास बीयर की बोतल के लिए प्रतिस्थापन के रूप में माना जा रहा है।
ये पोस्ट हमारी साथी शिक्षा द्वारा लिखी गई है।
Share.

About Author

Leave A Reply