हर मर्ज की दवा नहीं है PAIN KILLER

0

नई दिल्ली : दर्द में शरीर टूटना आम बात है। ये दर्द कभी किसी बीमा‍री की वजह से होता है तो कभी चोट लगने की वजह से होता है। कुछ लोगों के शरीर में कमजोरी के कारण भी दर्द बना रहता है। ऐसे में बिना कुछ सोचे-समझे लोग बस पेनकिलर उठाकर खा लेते हैं।

कुछ लोग दवाओं के इतने आदि हो जाते हैं कि शरीर में थोड़ा भी दर्द हो अपने दर्द से छुटकारा पाने का उनको पेन किलर ही एक आसान रास्ता दिखता है। लेकिन, अगर आप इन दर्द के दवाओं पर पूरी तरह से निर्भर हो चुके हैं तो सावधान हो जाइए। आज हम आपको बताएंगे इन पेनकिलर्स के भयंकर नुक्सान के बारे में :

पेन किलर के आदि हैं :

बसे पहले तो आपको ये सुनिश्चित करना होगा कि आपको होने वाले दर्द की वजह क्या है ? अगर सच में दर्द बर्दाश्त के बाहर हो जाए तो आपको डॉक्टर से बात करके ही पेनकिलर लेना चाहिए । साथ ही आपको ये भी ध्यान रखना होगा कि ये पेनकिलर्स आपको बस कुछ देर की राहत दिला सकते हैं, पूरी तरह छुटकारा दिलाने में ये नाकामयाब होते हैं।

पेनकिलर्स के नुकसान –

– क्या आप जानते हैं पेनकिलर्स के ओवरडोज से आप अपनी जान से हाथ धो सकते हैं।

– पेनकिलर्स ज्यादा मात्रा में लेने से डायजेशन खराब हो जाता है।

– इसके नियमित सेवन से आपका ब्लड प्रेशर भी अनियंत्रित हो सकता है ।

– कई बार ब्लड प्रेशर बढ़ने से हार्ट-अटैक होने का खतरा भी बढ़ जाता है ।

– एक रिसर्च के दौरान ये पाया गया है कि जो लोग दर्द के दौरान पेनकिलर लेते हैं या उनके आदी हो जाते हैं।

– कोकीन, एल्कोहल जैसी चीजें लेने की आशंका बढ़ जाती है।

– पेनकिलर का ज्यादा इस्तेमाल करने से पेनकिलर का असर होना कम हो जाता है।

Share.

About Author

Leave A Reply