जाने, मोबाईल ऐप्स को कैसे रोकें डाटा चुराने से

0
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने हाल ही में आरोप लगाया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘नमो ऐप’ के जरिए डाटा चुराया जाता है और उसका दुरुपयोग किया जाता है.
लेकिन क्या आप जानते हैं अधिकांश ऐप्स ऐसे हैं, जो ‘डिवाइस एंड ऐप हिस्ट्री’ का एक्सेस पाकर आपके मोबाइल के डाटा तक पहुंच सकते हैं. वहीं ‘स्टोरेज’ का एक्सेस हासिल कर पूरी मेमोरी कार्ड को भी रीड कर सकते हैं. साथ ही ये डाटा एडिट और डिलीट भी कर सकते हैं.
इतना ही नहीं ऐसे ऐप्स मोबाइल में इंस्टॉल ही तब होते हैं, जब यूजर उन्हें फोटो, वीडियो, कॉन्टेक्स्ट्स जैसी कई तरह की जानकारी पर एक्सेस प्रदान करते हैं. अगर यूजर एक्सेस से इन्कार करता है तो ये ऐप्स इंस्टॉल ही नहीं होते हैं.
जल्दीबाजी में अक्सर यूजर्स ‘I agree’ पर क्लिक करते हैं आगे बढ़ जाते हैं. लेकिन ऐसा करने से ऐप्स को यूजर्स के बारे में सब जानकारी मिलने लगती है. नाम के अलावा यूजर का पता क्या है, उसके खाते किन-किन बैंकों में हैं, गूगल प्ले स्टोर से उसने अपने मोबाइल में कौन-कौन से ऐप डाउनलोड कर रखे हैं, वह कौन-कौन सी साटइस्ट देखता है, यू-ट्यूप पर कैसे वीडियो देखता है, उसके मोबाइल में कैसे फोटो और वीडियो डाउनलोड हैं. ये सारी बातें ऐप बहुत आसानी से पता कर सकते हैं.
ऐप्स को दी जाने वाली परमिशन को ऐसे करें डिसेबल-
1. सेंटिंग्स में ऐप्स पर जाएं और जिस ऐप की परमिशन बदलना है, उस पर क्लिक करें.
2. ऐप पर क्लिक करते ही ‘परमिशन’ ऑप्शन नजर आएगा. इस पर क्लिक करते ही आपके सामने लिस्ट आ जाएगी कि आपने किस-किस चीज की परमिशन दी है.
3. यहां आप सारी परमिशन को डिसेबल कर सकते हैं.
Share.

About Author

Leave A Reply