“मिसिंग”: बेहतरीन कहानी पर अच्छा निर्देशन है मिसिंग

0
फिल्म: मिसिंग
स्टार कास्‍ट: तब्‍बू, मनोज बाजपेई, अनु कपूर
डायरेक्‍टर: मुकुल अभ्‍यंकर
कहानी:
सुशांत दुबे (मनोज बाजपेयी) और उसकी पत्नी अपर्णा मॉरिशस के एक होटल में चेकइन करते हैं। यहां आने के पांच घंटे के भीतर ही उनकी बेटी तितली गुम हो जाती है। पूरी फिल्म में इस बच्ची को ढूढ़ा जाता है। जैसे-जैसे फिल्म आगे बढ़ती है, फिल्म का संस्पेंस अपने चरम पर पहुंच जाता है। यह संस्पेंस आपकी उत्सुकता को बढ़ाने में कामयाब रहता है लेकिन जब पुलिस की पड़ताल होती है तो ऐसे-ऐसे राज खुलकर सामने आते है कि खुद इंस्पेक्टर राम खिलावन बुद्धु (अन्नू कपूर) को भी लगने लगता है कि कुछ गड़बड़ है।
इस फिल्म के जरिए मुकुल अभंयकर ने पहली बार बतौर निर्देशन काम किया है। मुकुल के पास कमाल की स्क्रिप्ट थी, लेकिन वह इस शानदार कहानी को पर्दे पर सही तरह से उकेरने में नाकामयाब रहे है।  इंटरवल के बाद फिल्म बिखर सी गई है।दरअसल इंटरवल से पहले ही एक ऐसा राज सामने आता है, जिसे शायद अंत में खोल जाता तो ज्यादा मजा आता। इस साइकोलॉजिक थ्रिलर की सबसे बड़ी खामी यह है कि इंटरवल के बाद आप कई मौकों पर हसेंगे और शायद मुकुल यही पर मात खा गए है।
फिल्म के कलाकारों ने उम्दा काम किया है। मनोज बाजपेयी एक रंगीन मिजाज शख्स के रुप में खूब जमे हैं। वहीं एक रहस्यमयी औरत के रुप में तब्बू ने दिल जीत लिया। पुलिस इस्पेक्टर के रुप में अन्नू कपूर कमाल के लगे हैं। उनकी फ्रेंच बोली कमाल की लगती है।फिल्म की कहानी बेहतरीन है, लेकिन इसके लिए अच्छे निर्देशन की जरुरत थी। बाकी अगर आप बहुत दिन से किसी संस्पेंस थ्रिलर की तलाश में थे तो एक बार फिल्म देखी जा सकती है।
Share.

About Author

Leave A Reply