अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर फिर इतिहास रचने के लिए तैयार मैरी कॉम, स्ट्रैंड्जा टूर्नामेंट में पक्की की जगह

0

नई दिल्लीः भारत की मुक्केबाज खिलाड़ी एमसी मैरी कॉम ने 69वें स्ट्रैंड्जा मेमोरियल मुक्केबाजी टूर्नामेंट के खेले गए मुकाबले में 48 किलोग्राम में जीत दर्ज की है। वहीं इस जीत के साथ ही 69वें स्ट्रैंड्जा मेमोरियल मुक्केबाजी टूर्नामेंट के सेमीफाइनल मुकाबले में तीसरा अंतरराष्ट्रीय पदक अपने नाम किया है। मैरीकोम ने अपनी पूरानी प्रतिद्वंद्वी रोमानिया के स्टेलुटा डुटा को क्वार्टर फाइनल में खेले गए मुकाबले में मात दे दी। दरअसल, डुटा विश्व चैंपियनशिप में 3 बार रजत पदक समेत यूरोपीय चैंपियनशिप में 4 बार स्वर्ण पदक जीत चुकी हैं।

तीसरा अंतरराष्ट्रीय पदक मैरी कॉम के नाम
69वें स्ट्रैंड्जा मेमोरियल मुक्केबाजी टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में मैरी कॉम के लिए जगह बनाना कई माइनों में खास है। मैरी ने सेमीफाइनल में जगह बनाक लगातार तीसरा अंतरराष्ट्रीय पदक पक्क कर लिया है। मैरी कॉम ने वर्ल्ड चैंपियनशिप में डुटा को 3 बार साल 2006, 2008 और 2010 में मात दी, जिससे चलते डुटा को तीनों बार रजत पदक से ही संतुष्ट करना पड़ा।

कुछ ऐसा रहा मैच का हाल, लड़कियों ने दिखाया कमाल
बात अगर इस मुकाबले की करें तो डुटा और मौरी कॉम के बीच कड़ी टक्कर देखने को मिली, लेकिन जीत मैरी कॉम की हुई। वहीं पुरुष वर्ग में धीरज रांगी 64 किलोग्राम के पहले दौर में लुई कोलिन रिकार्नो के खिलाफ खेलते हुए टूर्नामेंट से बाहर हो गए। वहीं भारत की महिलाओं ने अपना दम दिखाते हुए सीमा पूनिया ने 81 किलोग्राम से अधिक में, मीना कुमारी देवी ने 54 किलोग्राम में भाग्यवती काचरी ने 81 किलोग्राम में और स्वीटी बूरा ने 75 किलोग्राम में जीत दर्ज करते हुए भारत के पहले ही 4 पदक पक्के करवा दिए थे।

Share.

About Author

Leave A Reply