अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस : मथुरा में 1500 गायों की रक्षा करती है जर्मनी की ये महिला

0

मथुरा : अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर कई जगहों पर महिलाओं का सम्मान किया गया। इसमें दो राय नहीं है कि महिलाओं ने घर की चारदीवारी लांघकर कर अपने आप को सशक्त किया है। आज महिलाएं घर की जिम्मेदारी को निभाने के साथ स्वालंबन बनने की दिशा में तेजी से आगे बढ़ रही है। हर क्षेत्र में महिलाएं खुद को स्थापित कर रही हैं।
ऐसी एक महिला है सुदेवी दासी, जो घर परिवार से दूर गायों की सेवा में लीन हो गई है। मूल रूप से जर्मनी के निवासी सुदेवी दासी गायों को ही अपनी संतान मानती हैं।

वर्ष 1978 में बृज दर्शन के लिए सुदेवी दासी जर्मन से आई थीं। गोवर्धन के राधा कुंड में रह कर वे गायों की सेवा करने लगी है। सुदेवी दासी ने बताया कि एक बार गाय का बछडा घायल हो जाने पर उसका इलाज करने में लग गईं, जिसके बाद उन्होंने धीरे धीरे राधा कुंड में सुरभि गौ सेवा निकेतन के नाम से गौशाला का निर्माण कर लिया।

गौशाला में इस वक्त करीब 15 सौ गाय हैं। सुदेवी हमेशा बीमार और असहाय गायों की सेवा में लगी रहती हैं। अब गौ सेवा का भाव इनके अंदर ऐसा जगा है कि जीवन को ही इसी के लिए समर्पित कर लिया। सरकार द्वारा भी दासी को कोई मदद नहीं दी गई आज वह जो कर रही हैं अपने दम पर ही कर रही हैं।

Share.

About Author

Leave A Reply