अगर आप भी जवां दिखने के लिए करते हैं इसका इस्तेमाल तो हो जाइए सावधान

0

बढ़ती उम्र के साथ-साथ हमारे चेहरे की त्वचा भी सूखने लगती है और झुर्रियों के कारण इसका लचीलापन भी बढ़ जाता है। ऐसा तब होता है, जब त्वचा में कोलेजन और इलास्टिन जैसे प्रोटीन्स की कमी हो जाती है। साथ ही, त्वचा में हाइएल्योरॉनिक एसिड की मात्रा में भी कमी होती है, जिससे त्वचा में रूखापन आ जाता है। जी हां, हाइएल्योरॉनिक एसिड प्राकृतिक रूप से हमारी त्वचा में ही पाया जाता है, जिसका काम त्वचा के निचली परतों में नमी और हाइड्रेशन के अच्छे स्तर को बनाए रखना होता है। इससे चेहरे की झुर्रियां और लचीलापन ख़त्म हो जाता है और त्वचा की प्राकृतिक सुंदरता बरक़रार रहती है।

हमारे अनियमित जीवनशैली और गलत खान-पान से तनाव और चेहरे पर असमय झुर्रियां दिखने लगती हैं, इसलिए इन दिनों बढ़ती उम्र को रोकने के लिए कई प्रकार के एंटी-एजिंग क्रीम बड़ी तादाद में बाज़ारों में बिकने लगी है और हम उसके आदी हो गए हैं । इतना ही नहीं जवान दिखने के लिए आजकल लोग कई प्रकार की सर्जरीज़ भी करवाते हैं, जिनका नुक्सान जानलेवा है। आपके लिए ये जानना है बेहद ज़रूरी, क्या एंटी-एजिंग क्रीम व सर्जरीज का इस्तेमाल आपकी त्वचा के लिए सही है या नहीं :

-हार्ट बीट का अचानक रुक जाने को कार्डियक अरेस्ट कहा जाता है।

-धड़कन तभी रुकती है जब उसे ऑक्सीजन न मिले मतलब मांसपेशियों को खून न मिले।

-जब हमारा दिल धड़कता है तब एक विद्युत संवेग यानि बिजली की कौंध पैदा होती है, जिसकी मदद से रक्त हमारे शरीर के अलग-अलग अंगों में संचारित होता है।

-कई बार धड़कन अनियंत्रित हो जाए, तो रक्त का संचार प्रभावित होता है और इसका असर शरीर के कई हिस्सों पर पड़ सकता है।

-दिल की धड़कन अनियंत्रित होने की भी कई वजहें हो सकती हैं। जैसे, मांसपेशी में कोई समस्या आना या मांसपेशियों को मिलने वाला खून दूषित हो।

-कार्डियक अरेस्ट दिल की ऐसी बीमारी है, जिसमें धड़कन के अनियंत्रित होने से कई बार कुछ समय के लिए दिल खून की पंपिंग करते-करते आराम करने लगता है। ये आराम कितना लंबा हो सकता है इसका कोई अंदाजा नहीं है।

Share.

About Author

Leave A Reply