मू्र्ति तोड़ने के मामले में उत्तराखण्ड के पूर्व मुख्यमंत्री रावत का विवादित बयान

0

रुड़की: शहर के कान्हेवाली गांव में कुछ दिनों पूर्व भीमराव अंबेडकर की मूर्ति गिराने का मामला सामने आया था। जिसके बाद गांव में भारी पुलिसबल तैनात कर दिया गया था। इसी मामले को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने अपने ट्वीट के जरिए त्रिवेंद्र सरकार को घेरा। उन्होंने लिखा कि यही इस तरह के कुआचरण करने वालों पर जल्द कार्रवाई नहीं की जाती है तो यह सरकार की नाकामी होगी।

इस विवाद पर हरीश रावत ने बीते रोज ट्वीट किया है। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा कि इस तरह के कुआचरण करने वालों पर लगाम लगाने और वैधानिक कार्यवाही करने की पूरी ज़िम्मेदारी भाजपा सरकार की है। उन्होंने इस तरह के कार्य़ करने वालों को समाज के लिए अराजक बताय़ा। साथ ही इस घटना को प्रदेश सरकार की नाकामी से जोड़ते हुए रावत ने ये ट्वीट किय़ा।

कान्हेवाली गांव में डॉ. भीमराव अंबेडकर की मूर्ति को कुछ असमाजिक लोगों द्वारा खंडित कर दिया गया था। यह मामला है आज से दो दिन पहले य़ानी 9 मार्च का है। जिसके बाद दलित समुदाय आक्रोशित होकर सड़कों पर उतर आया था। घटना की गंभीरता को देखते हुए मौके पर भारी पुलिस बल तैनात की गई थी। फिलहाल गांव में तनाव का माहौल नहीं है और गांव में नई मूर्ति भी स्थापित कर दी गई है।

Share.

About Author

Leave A Reply