मोहम्मद मानसा मूसा, कहते हैं इस बादशाह की दौलत का आजतक हिसाब नहीं लग सका है

0

सन 1280। उस वक्त माली के टिम्बकटू में एक बादशाह हुआ करता था। नाम था मोहम्मद मानसा मूसा। ये वो ज़माना था। जब दुनियाभर में सोने की मांग सबसे ज्यादा थी। उस जमाने में माली ही दुनियाभर में सबसे ज्यादा सोना निकालने वाला देश था। नतीजा, मानसा मूसा, जो माली का बादशाह था, उसकी दौलत इतनी ज्यादा बढ़ गई। कि उसका आज के जमाने में भी अंदाजा लगाना मुश्किल माना जाता है। फिर भी एक अंदाजा है कि मनसा मूसा के पास 4,00,000 मिलियन अमरीकी डॉलर के बराबर की दौलत थी। भारतीय मुद्रा में ये रकम करीब ढाई लाख करोड़ रुपये बनती है। कुछ दिनों पहले मनी मैगजीन ने भी मानसा मूसा को इतिहास का अब तक सबसे अमीर बादशाह घोषित किया था। कहते हैं की मूसा की सल्तनत कितनी विशाल थी, खुद मूसा को भी इसका अंदाज़ा नहीं था। साथ ही मानसा अपनी दान करने की आदत की वजह से प्रजा का पसंदीदा बादशाह था, कहते हैं कि एक बार मानसा मूसा ने सन 1324 में माली से मक्का की साढ़े छह हजार किलोमीटर तक की यात्रा की थी। इस दौरान जहां से भी मूसा का कारवां गुजरा करता था, लोग अचंभित रह जाते थे. मूसा के कारवां में 60 हजार लोग शामिल थे। जिनमें से 12 हजार घुड़सवार थे. जो बादशाह के निजी सुरक्षाकर्मी थे. और उन सबके हाथों में सोने की छड़ी थी। कहते हैं कि बादशाह जहां से गुजरता था, वहां के गरीबों को सोना दान में देता था। मिस्र की राजधानी काईरो में तो बादशाह ने इतना ज्यादा दान कर दिया कि वहां बेहिसाब मंहगाई बढ़ गई।

Share.

About Author

Leave A Reply